सुपरस्टार गोविंदा अब फिल्मों में भले ही ना नजर आते हों, लेकिन एक वक्त ऐसा था जब पूरे बॉलीवुड पर उनका ही राज था। 80-90 के दशक में गोविंदा ने एक से बढ़कर एक फिल्में की थी जो सुपरहिट होती थी। यहां तक कि एक वक्त ऐसा भी था जब ये कहा जाने लगा था कि अगर गोविंदा फिल्में नहीं करेंगे तो फिल्म इंडस्ट्री बंद हो जाएगी। हालांकि अपने करियर के पीक पर गोविंदा ने भी बहुत सी फिल्मों को रिजेक्ट कर दिया था। गोविंदा के हाथ से एक सबसे सुपरहिट फिल्म निकली थी ‘गदर’ जो सनी देओल के करियर की सबसे बेहतरीन फिल्म में से एक साबित हुई !

‘गदर एक प्रेम कथा’ फिल्म देखने के बाद कोई ये सोच भी नहीं सकता कि इस फिल्म में सनी की जगह कोई और ले सकता है। हालांकि बहुत कम लोग ही ये बात जानते हैं कि सनी देओल से पहले ये फिल्म गोविंदा को ऑफर की गई थी। एक इंटरव्यू में खुद गोविंदा ने इस बारे में खुलासा किया था। उन्होंने बताया था कि ‘गदर’ के मेकर्स उनके पास इस फिल्म का ऑफर लेकर आए थे। उन्हें फिल्म पसंद भी थी, लेकिन एक खास वजह से उन्हें ये फिल्म छोड़नी पड़ी।

गोविंदा ने बताया था कि इस फिल्म में तारा सिंह का जो रोल दिखाया गया था उसके लिए वो खुद को उतना फिट नहीं मानते थे। ऐसे में उन्हें लगा कि ये रोल उनकी इमेज से बिल्कुल भी मेल नहीं खाता है और वो इस रोल के साथ न्याय नहीं कर पाएंगे। ये ही वजह थी कि फिल्म की कहानी पसंद होते हुए भी गोविंदा ने ये फिल्म ठुकरा दी और सनी की किस्मत में एक सुपरहिट फिल्म आ गई।

गोविंदा के फिल्मी करियर की बात करें तो वो पिछले काफी समय से बड़े पर्दे से दूर हैं। वो कुछ फिल्मों में नजर भी आए थे, लेकिन उनकी फिल्में चली नहीं। गोविंदा को आखिरी बार ‘पार्टनर’ और ‘भागम भाग’ में उनके कॉमिक रोल के लिए पसंद किया गया था।